You are here

Mesar Forest Festival and Creative Edge Workshop (May 2011)

The Fifth Mesar Forest Festival , 15 May 2011

We are pleased to announce the Fifth Mesar Forest Festival also called the मेसर वन कौतिक- 2011 and invite you join us on 15 May 2011 at the Mesar Kund in Sarmoli Village, Munsiari, Uttarakhand  with the Panchachuli range as our backdrop.

The Mesar Forest Festival is a celebration of the cultural and biological diversity of this region. Apart from the food, fun and festivities of dance and song, there will be the annual traditional drumming or the ढोल नंगाडा competition with participating teams from across the Gori valley.

We will also be giving out our fifth Lok Prakriti Puruskar for outstanding conservation work in the region.

This unique forest  at the festival will be bringing together, for the first time, artists both local and from beyond the Himalaya to create and perform together. This will happen at the workshop 'Creative Edge' that will precede the festival and begins on the 5 May 2011 in Sarmoli village. We will be joined by creative dancers, visual artists and photographers. You are welcome to join this workshop.

Please do join.
Sarmoli Organizing Committee

Gram Pradhan Sarmoli, Zilla Panchayat Member Munsiari, Shetra Panchayat Member Sarmoli, Mahila Mangal Dal Sarmoli and Nanasem, Van Panchayat Shankhdhura and residents of Sarmoli, Nanasem & Shankhdhura
and
Sarmoli Nature Tourism Entreprise
Contact: 9410591616, 8859964711, 9457869632, 9456156713

पांचवा मेसर वन कौतिक
इस वर्ष पांचवा मेसर वन कौतिक-15 मई 2011 को मेसर कुँड में आयोजित किया जा रहा है। इस हर्षित अवसर पर उच्च हिमालय के पंचाचुली पहाडों के पृष्ठपट पर स्थित सरमोली ग्राम के कौतिक स्थल- मेसर कुँड में आप सादर आमनत्रित हैं।

मेसर वन कौतिक में इस क्षेत्र की सांस्कृतिक व प्राकृतिक विविधता का उत्सव मनाया जा रहा है। विभिन्न प्रकार के खान-पान, नृत्य-गान, ढुस्का व मज़ेदार व रचनातमक खेल और अन्य कार्यक्रम के साथ वार्षिक ढोल नंगाडा प्रतियोगिता आयोजित किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में गोरी घाटी से कई कलाकार भाग लेंगे व पुरस्कृत किये जायेंगे ।

इस वर्ष क्षेत्र में सतत संरक्षण कार्य के लिये चौथा लोक प्रकृति पुरस्कार भी प्रदान किया जायेगा।

मेसर वन कौतिक में पहली बार स्थानीय व हिमालय से बाहर अन्य शहरों के अनेक कलाकोरों को एक मंच पर लाकर कलात्मक सृजन व प्रदर्शन का कार्यकर्म रखा गया है। मेले से पुर्व 5 मई से सरमोली गाँव में 'हिमल कला सुत्र ' कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इस में बुनकर, संगीतकार, नृत्याँगनाए, चित्र कलाकार, छायाकार आदि शामिल होंगे।

आप का सहयोग व उपसिथिति अपेक्षित है- अवश्य पधारे।

सरमोली आयोजन समिति:
ग्राम प्रधान सरमोली, ज़िला पंचायय सदस्या मुनस्यारी, क्षेत्र पंचायत सदस्या सरमोली, महिला मंगल दल सरमोली व नानासेम, सरपंच वन पंचायत शंखघुरा व निवासी सरमोली, नानासेम, शंखघुरा

सरमोली प्राकृतिक पर्यटन समिति
संपर्क फोन : 9410591616, 8859964711, 9457869632, 9456156713